Monday, February 26, 2024

कुख्यात ईरानी गैंग के सक्रिय सदस्य है जीनत हत्याकांड के आरोपी, दिल्ली पुलिस की वर्दी पहनकर घटना को देते हैं अंजाम,तलाश में जुटी पुलिस

नोएडा। थाना सेक्टर-113 क्षेत्र के सेक्टर-116 में 5 जनवरी को हुई ईरानी युवती जीनत (22 वर्ष) की हत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृतका के पिता और उसके परिवार के अन्य लोग कुख्यात ईरानी गैंग के सक्रिय सदस्य हैं। ये लोग फर्जी पुलिस और सीबीआई अधिकारी बनकर विदेशी लोगों से लूटपाट करते हैं। इस गैंग के कई लोगों को दिल्ली पुलिस पूर्व में गिरफ्तार कर चुकी है। इस गैग के लोगों ने भूटान के सांसद के साथ भी लूटपाट की थी अब दिल्ली और नोएडा पुलिस इनकी तलाश मे जुटी है। सभी आरोपी फरार हैं।
 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

मालूम हो की 5 जनवरी को नोएडा के सेक्टर-116 में स्थित एक मकान में रहने वाली ईरानी युवती जीनत पुत्री फिरोज की उसके रिश्तेदार दाऊद, हुसैन ईरानी, वसीम, असलम, नासिर, मुर्तबा आदि ने धारदार हथियार से हमला कर उसकी हत्या कर दी थी। इस मामले में मृतका के पिता फिरोज की शिकायत पर घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने फर्सीद, जरीन, जीनत सहित चार महिलाओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। घटना के बाद से ही दाउद, हुसैन ईरानी, वसीम, असलम आदि फरार है। बताया जाता है कि आरोपी नेपाल के रास्ते भारत आए थे।
 

पुलिस सूत्रों के अनुसार एक आरोपी नेपाल के रास्ते ईरान भाग गया है। जबकि कुछ आरोपी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र  में अभी छुपे हुए हैं। इस हत्याकांड के बाद दिल्ली पुलिस ने सक्रिय हुई। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर पवन दहिया अपनी टीम के साथ थाना सेक्टर-113 पहुंचे। उन्होंने थाना सेक्टर-113 के पुलिस अधिकारियों से बातचीत की तथा मृतका जीनत के परिजनों के बारे में जानकारी हासिल की। जांच के दौरान पता चला की मृतका के पिता फिरोज, उसकी मां रानी, उसके रिश्तेदार हुसैन ईरानी, असलम आदि ईरानी गैंग के सक्रिय सदस्य है। उनकी पूर्व में दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तारी हुई है, या लूटपाट के मामले में वंचित हैं। सूत्र बताते हैं कि दिल्ली पुलिस के अधिकारी फिरोज को पकड़ कर ले गए थे, लेकिन वहां के अधिकारियों ने कहा कि उसकी बेटी की हत्या हुई है, उसका शव दिल्ली के एम्स में रखा है। उसके शव को ईरान पहुंच जाने दो फिर इसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसी बीच फिरोज पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया है।
दिल्ली पुलिस के सूत्रों का दावा है कि फिरोज और इसके गैंग के अन्य लोग नेपाल के रास्ते भारत आए हैं। ये लोग यहां पर खुद को कश्मीरी नागरिक बताकर ज्यादा किराया देकर मकान किराए पर लेते हैं, तथा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में विदेश से उपचार करने आए विदेशी लोगों को अपना शिकार बनाते हैं। इससे पूर्वी नोएडा के सेक्टर 168 और कई अन्य जगह से ईरानी गैंग के लोगों की दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तारी की है। बताया जाता है कि ईरानी गैंग के लोग नोएडा में शरण लेकर आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार इस गैंग में मुस्तफा, नासिर शाह, समीर, इलियास,  असीम जाफरी, हुसैन ईरानी भी शामिल हैं।

 

पुलिस सूत्र बताते हैं कि ईरानी गैंग के लोगों की तलाश में जुटी दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने फिरोज के नौकर अरशद को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। उससे पूछताछ के दौरान पता चला है कि ईरानी गैंग के लोगों के पास दो लग्जरी कारे थी। ये लोग इन्हीं लग्जरी कारों में दिल्ली पुलिस की वर्दी पहनकर और सीबीआई के अधिकारी बनकर सवार होकर जाते थे तथा लोगों को फर्जी आई कार्ड और पुलिस की वर्दी का रोब दिखाकर उनसे लूटपाट करते थे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय