Monday, May 27, 2024

कैराना में युवक के हत्यारोपी के पैर में लगी पुलिस की गोली,  ईंख के खेत में फेंक दिया था पानीपत के युवक का शव

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |

कैराना। अमित हत्याकांड के दो आरोपियों के साथ में कोतवाली पुलिस व एसओजी की मुठभेड़ हो गई, जिसमें एक हत्यारोपी पैर में पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया। मुठभेड़ में एक सिपाही भी जख्मी हुआ है। आरोपियों के कब्जे से एक अवैध तमंचा व चोरी की बाइक बरामद हुई है। आरोपियों ने चार दिन पूर्व पानीपत के युवक अमित की हत्या करके उसका शव कस्बे के झिंझाना मार्ग पर सब्जी मंडी के निकट स्थित ईंख के खेत में फेंक दिया था। एक युवती समेत हत्याकांड के दो आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

विगत 01 मई 2024 को कस्बे के झिंझाना मार्ग पर सब्जी मंडी के निकट स्थित तौहीद पुत्र जमील निवासी मोहल्ला आलखुर्द कस्बा कैराना के ईंख के खेत में पुलिस को एक युवक का शव पड़ा होने की सूचना मिली थी। सूचना पर एसपी शामली अभिषेक झा, एएसपी संतोष कुमार व सीओ अमरदीप मौर्य ने सर्विलांस तथा फील्ड यूनिट टीम के साथ में मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का गहन निरीक्षण किया था।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

अगले दिन मृतक युवक की पहचान अमित पुत्र शिवबालक निवासी पानीपत के रूप में हुई थी। युवक अमरजीत ने स्थानीय कोतवाली पर अमन त्यागी, अंकुश त्यागी, अंकुश उर्फ लंबू व ज्योत्सना के विरुद्ध अपने भाई की हत्या का अभियोग पंजीकृत कराया था। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की पांच टीमें गठित की गई थी। विगत शनिवार की देर रात्रि जहानपुरा पुलिया के निकट स्थित अमरूद के बाग के पास अमित हत्याकांड के दो हत्यारोपियों के साथ में कोतवाली पुलिस व एसओजी टीम की मुठभेड़ हो गई, जिसमें हत्यारोपी अमन त्यागी निवासी ग्राम ताजपुर थाना बापौली जनपद पानीपत हरियाणा पैर में पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया, जबकि दूसरे हत्यारोपी अंकुश उर्फ लंबू को भी पुलिस व एसओजी टीम ने मौके पर ही दबोच लिया। मुठभेड़ में कोतवाली पर तैनात सिपाही अंकित मावी भी जख्मी हुआ है। घायल हत्यारोपी व सिपाही को उपचार हेतु अस्पताल में भर्ती कराया गया। पकड़े गए हत्यारोपियों के कब्जे से 315 बोर का एक अवैध तमंचा, दो जिंदा कारतूस, एक खोखा कारतूस व बिना नंबर प्लेट की चोरी की एक बाइक बरामद हुई। पुलिस ने गिरफ्तार दोनों आरोपियों को चालान करके उन्हें जेल भेज दिया। हालांकि युवती समेत दो हत्यारोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

पैसों के लालच में दे दिया हत्याकांड को अंजाम: मुठभेड़ के दौरान पकड़े गए हत्यारोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उन्होंने अंकुश त्यागी व ज्योत्सना के साथ मिलकर गांव खेड़ी तगान में बैठकर घटना का पूरा प्लान बनाया था। उन्हें मृतक अमित की माता के खाते में आठ-दस लाख रुपये होने की जानकारी थी। प्लान के मुताबिक वह चारों विगत 30 अप्रैल 2024 की शाम को अमित की स्वीप्ट डिजायर कार में सवार होकर हरिद्वार के लिए चल दिए। उन्होंने पानीपत से ही शराब व बीयर की तीन बोतल ले ली थी, जिसे उन्होंने रास्ते में पी लिया। उन्होंने अमित को शराब में बीयर मिलाकर ज्यादा पैक दिये, जब अमित पूरी तरह नशे में हो गया तो अंकुश त्यागी ने उससे ट्रांजेक्शन हेतु आईडी पासवर्ड मांगा, लेकिन उसने पासवर्ड नही बताया जिस पर उसके साथ में मारपीट की गई। अमित से जबरदस्ती पासवर्ड लेकर अंकुश त्यागी ने 1.25 लाख रुपये अपने खाते में ट्रांसफर कर लिये। पुलिस में शिकायत करने के भय से उन्होंने अमित का गला दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद उन्होंने उसके शव को भूरा रोड़ पर सब्जी मंडी से आगे आम के बाग के निकट स्थित ईंख के खेत में डाल दिया। शव को वहां फेंककर वह चारों अमित की गाड़ी व मोबाइल लेकर मौके से फरार हो गए।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,319FollowersFollow
51,314SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय