Thursday, July 25, 2024

उत्तर प्रदेश में संघ प्रचारकों के हुए तबादले, दलितों-पिछड़ों में पैठ बढ़ाने को लेकर हुई चर्चा

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की लखनऊ में चल रही बैठक में गुरुवार को कई प्रचारकों के तबादले की घोषणा की गई। राजधानी के सरस्वती शिशु मंदिर निराला नगर में संघ के सह कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले की उपस्थिति में चल रही बैठक में गुरुवार कई प्रचारकों के केंद्र बदल दिए गए हैं। संघ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के क्षेत्र सेवा प्रमुख युद्धवीर का केंद्र सुल्तानपुर से हटाकर सेवा भारती कार्यालय काशी किया गया है। वह लंबे समय तक उत्तराखंड के प्रांत प्रचारक का दायित्व निर्वहन कर रहे थे। पूर्वी यूपी क्षेत्र के सह क्षेत्र सम्पर्क प्रमुख मनोज कुमार का केंद्र अयोध्या से हटाकर गोरखपुर किया गया है। वह इसके पहले काशी सह प्रांत प्रचारक रह चुके हैं। अखिल भारतीय सह गो सेवा प्रमुख नवल किशोर का केंद्र प्रकृति भारती मोहनलालगंज लखनऊ किया गया है।

उनका केंद्र अभी तक गोरखपुर था। वहीं क्षेत्र के मुख्य मार्ग सम्पर्क प्रमुख राजेंद्र सक्सेना का केंद्र काशी से हटाकर लखनऊ किया गया है। वह इससे पहले क्षेत्र के प्रचार प्रमुख रहे हैं। वह विश्व संवाद केंद्र लखनऊ में लंबे समय तक रहे। क्षेत्र के पर्यावरण प्रमुख अजय कुमार का केंद्र काशी घोषित किया गया है। वह गोरखपुर के रहने वाले हैं। पर्यावरण प्रमुख अजय कुमार का केंद्र काशी घोषित किया गया है। पूर्वी यूपी के क्षेत्र प्रचारक प्रमुख राजेंद्र सिंह का केंद्र कानपुर से हटाकर भारती भवन लखनऊ किया गया है। लम्बे समय से उनका केंद्र कानपुर था। संघ में प्रचारक प्रमुख का पद काफी अहम माना जाता है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

लोकसभा चुनाव के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की एक बैठक राजधानी लखनऊ में चल रही है। इस दौरान कई विषयों पर चर्चा हुई। बैठक में हिस्सा लेने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और अखिल भारतीय प्रचारक प्रमुख स्वान्त रंजन लखनऊ पहुंचे हैं। बैठक 29 जून तक चलेगी। बैठक के पहले दिन क्षेत्रीय कार्यकारिणी के प्रचारक शामिल हुए। इसमें अगले साल संघ की स्थापना के 100 वर्ष पूर्व करने के उपलक्ष्य में शताब्दी वर्ष मनाने की तैयारियों के साथ गुरुदक्षिणा कार्यक्रम को लेकर भी चर्चा हुई। बैठक में शाखाओं के विस्तार के साथ ही दलितों -पिछड़ों में पैठ बढ़ाने को लेकर भी चर्चा हुई।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय