Thursday, July 18, 2024

टी20 विश्व कप 2024 फाइनल: खिताब जीतकर एक नया अध्याय लिखना चाहेंगे भारत, दक्षिण अफ्रीका

नई दिल्ली। भारत ने 2013 के बाद से कोई आईसीसी खिताब नहीं जीता है, वहीं, दक्षिण अफ्रीका पहली बार पुरुष विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है, जबकि उसने सभी प्रारूपों में पिछले सभी सात विश्व कप सेमीफाइनल गंवाए हैं, लेकिन आज रात ये दोनों टीमें टी-20 विश्व कप खिताब जीत कर नया अध्याय लिखना चाहेंगी।

शनिवार को यहां केंसिंग्टन ओवल में 2024 आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप के फाइनल में दोनों टीमें आमने-सामने होंगी।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

यह उन दो टीमों के बीच की जंग होगी, जो अब तक टूर्नामेंट में अजेय हैं। भारत ने अलग-अलग परिस्थितियों और बेहतरीन प्रतिद्वंदियों की वजह से पैदा हुई सभी चुनौतियों को पार कर लिया है और उसे विश्वास है कि दूसरा टी20 विश्व कप ट्रॉफी उसके हाथ में है।

टीम ने पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसी टीमों की कड़ी चुनौती को आसानी से पार कर लिया है। न्यूयॉर्क में कम स्कोर वाले मैचों से लेकर सेंट लूसिया में हवा से प्रभावित मैच तक, भारत ने काम पूरा करने का तरीका ढूंढ लिया है।

जैसे-जैसे अभियान आगे बढ़ा, नए नायक उभर कर सामने आए। बांग्लादेश के खिलाफ़ सुपर 8 चरण में हार्दिक ने बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन किया और एक बेहतरीन फिनिशर के रूप में उभरे। कप्तान रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को पूरे मैदान में जमकर मारा और केवल 41 गेंदों में 92 रन जड़ दिये। इसके बाद सेमीफाइनल में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 57 रनों की शानदार पारी खेली।

जब टीम अमेरिका से वेस्टइंडीज गई, तब कुलदीप यादव को अंतिम ग्यारह में शामिल किया गया था, और वे विकेट लेने वालों में शामिल रहे हैं। और फिर जसप्रीत बुमराह हैं, जो शुरू से लेकर आखिर तक अजेय रहे हैं। सूर्यकुमार यादव और ऋषभ पंत अन्य सिद्ध प्रदर्शनकर्ता हैं, जो टीम को अजेय बनाते हैं।

भारत को इस मैदान पर एक मैच खेलने का अतिरिक्त लाभ भी मिला है, जिसमें उन्होंने अफगानिस्तान पर 47 रन की जीत दर्ज की थी। दूसरी ओर यह दक्षिण अफ़्रीका का इस द्वीप पर पहला मैच होगा।

प्रोटियाज टीम इस सफर में कई बार करीबी मुकाबले में जीती है। सुपर 8 में वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत दर्ज करना सबसे बड़ी चुनौती थी, जो अंत तक चली।

दक्षिण अफ्रीका के पास भारत के तीन स्पिनरों से निपटने के लिए बेहतरीन विकल्प मौजूद हैं। हेनरिक क्लासेन, डेविड मिलर, एडेन मार्करम और ट्रिस्टन स्टब्स धीमी गति के गेंदबाजों के आने पर खुलकर खेल सकते हैं – यह एक ऐसी ताकत है जिसकी कमी ज्यादातर अन्य टीमों में है।

भारत की तरह, दक्षिण अफ्रीका के पास भी ज्यादातर स्थानों पर बेहतरीन खिलाड़ी हैं। कैगिसो रबाडा और एनरिक नोर्टजे शानदार गति प्रदान करते हैं, जबकि मार्को यान्सन अतिरिक्त उछाल के साथ भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं।

क्विंटन डी कॉक ने शीर्ष क्रम में शानदार प्रदर्शन किया है, जबकि तबरेज शम्सी ने अपनी बाएं हाथ की कलाई की स्पिन से अच्छा प्रदर्शन किया है।

इस बात की संभावना है कि बारिश के कारण खेल में व्यवधान आ सकता है। फाइनल में एक रिजर्व डे है, शनिवार को अतिरिक्त 190 मिनट उपलब्ध हैं, ताकि खेल के घंटे बढ़ाए जा सकें।

कुल मिलाकर करोड़ों दर्शक एक पूर्ण और रोमांचक मुकाबले के लिए प्रार्थना करेंगे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय