Thursday, April 11, 2024

ममता बनर्जी शाहजहां शेख को संरक्षण दे रही हैं : भाजपा

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सरकार द्वारा संदेशखाली के आरोपी शाहजहां शेख को बचाने का आरोप लगाते हुए आज पूछा कि कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा शाहजहाँ की गिरफ्तारी पर रोक नहीं होने के बावजूद उस पर ममता बनर्जी सरकार की इतनी ममता क्यों बरस रही है और पीड़िताओं के प्रति वह इतनी निर्मम क्यों हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने यहां पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि संदेशखाली मामले में कल कलकत्ता उच्च न्यायालय ने ममता बनर्जी सरकार के उस झूठ को बेनकाब कर दिया कि शाहजहां शेख की गिरफ्तारी पर अदालत की कोई रोक है तथा उसका नाम अभियुक्त के रूप में दर्ज है। अब तृणमूल कांग्रेस बतायें कि अभियुक्त हाेने के बावजूद उसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उसके प्रति इतनी ममता क्यों दिखा रहीं हैं और पीड़ित महिलाओं के प्रति इतनी निर्मम क्यों हैं।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

शुक्ला ने कहा कि सुश्री बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश के कारण हमारे हाथ बंधे हैं। जबकि उच्च न्यायालय ने कहा कि केवल प्रवर्तन निदेशालय के मामले में गिरफ्तारी पर रोक है। लेकिन संदेशखाली के बलात्कार, जमीन पर कब्जा आदि के मामले में कोई रोक नहीं है। उन्होंने कहा कि संदेशखाली की पीड़ित महिलाओं की शाहजहां एवं उसके भाई सिराजुद्दीन के विरुद्ध 800 से अधिक शिकायतें दर्ज करायी गयीं हैं। लेकिन राज्य सरकार ने प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की है और अपराधियों पर कार्रवाई में उसके हाथ कांप रहे हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस एवं इंडी गठबंधन के साथी दल इस पर मौन साधे बैठे हैं। किसी ने एक ट्वीट तक नहीं किया है। पत्रकार से तृणमूल कांग्रेस की सांसद बनी एक नेत्री ने कहा है कि शाहजहां एक सप्ताह में गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसका मतलब है कि उन्हें पता है कि शाहजहां कहां है और उसे किसी खास समय में गिरफ्तार करने की योजना बनी है। इससे साबित होता है कि तृणमूल कांग्रेस शाहजहां को ना केवल संरक्षण दे रही है बल्कि उसकी इस साजिश में साझीदार है।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,237FansLike
5,309FollowersFollow
45,451SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय