Tuesday, July 9, 2024

जनता ने 10 साल के ट्रैक रिकॉर्ड पर जनादेश दिया, कुछ लोगों की पीड़ा समझी जा सकती है- पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष खासकर कांग्रेस पर तीखा हमला बोलते हुए कहा है कि देश की जनता ने हर कसौटी पर कसते हुए और 10 साल के ट्रैक रिकॉर्ड को देखकर तीसरी बार उन्हें जनादेश दिया है, लेकिन कुछ लोगों की पीड़ा समझी जा सकती है, जिन्हें लगातार झूठ चलाने के बाद भी घोर पराजय का सामना करना पड़ा। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर लोकसभा में हुई चर्चा का जवाब देते हुए मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश ने एक सफल चुनाव अभियान को पार करते हुए विश्व को दिखा दिया कि ये दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव अभियान था। देश की जनता ने दुनिया के सबसे बड़े चुनाव अभियान में उन्हें चुना है।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

वे कुछ लोगों की पीड़ा समझ सकते हैं कि लगातार झूठ चलाने के बाद भी उन्हें घोर पराजय का सामना करना पड़ा है। विपक्षी सांसदों के हंगामे के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि तुष्टिकरण ने इस देश को तबाह करके रखा था। उनकी सरकार तुष्टिकरण नहीं बल्कि संतुष्टिकरण के लिए काम कर रही है और देश की जनता ने उन्हें तीसरी बार जनादेश देकर इस पर अपनी मुहर लगा दी है। उन्होंने राष्ट्रपति के अभिभाषण का जिक्र करते हुए कहा कि वे राष्ट्रपति के अभिभाषण के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए उपस्थित हुए हैं। राष्ट्रपति ने विकसित भारत के संकल्प को अपने प्रवचन में विस्तार दिया है, अहम विषय उठाए हैं और हम सबका और देश का मार्गदर्शन किया है।

 

उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रखने की बात कहते हुए कहा कि वो विकसित भारत का संकल्प लेकर देश की जनता के सामने गए थे। हर कसौटी पर कसने के बाद देश की जनता ने उन्हें ये जनादेश दिया है। जनता ने उनके 10 साल के ट्रैक रिकॉर्ड को देखा है। जनता ने देखा है कि गरीबों के कल्याण के लिए उन्होंने समर्पण भाव से ‘जनसेवा ही प्रभुसेवा’ के मंत्र को चरितार्थ करते हुए कार्य किए हैं। उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे बड़े चुनाव अभियान में देश की जनता ने उन्हें तीसरी बार देश की सेवा करने का मौका दिया है। ये अपने आप में लोकतांत्रिक विश्व के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और गौरवपूर्ण घटना है।

 

जनता ने भ्रष्टाचार के प्रति उनकी जीरो टॉलरेंस की नीति को आशीर्वाद दिया है। उनका एकमात्र लक्ष्य भारत सर्वप्रथम है। इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी जैसे ही लोकसभा में बोलने के लिए खड़े हुए तो विपक्षी सांसदों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने इसके लिए विपक्षी सांसदों और विपक्ष के नेता के व्यवहार पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए फटकार भी लगाई। विपक्षी सांसदों के हंगामे के बीच पीएम मोदी ने अपना भाषण जारी रखा।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,351FollowersFollow
64,950SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय