Tuesday, June 25, 2024

अमेठी में स्मृति ईरानी हारी, किशोरीलाल शर्मा की जीत हासिल

अमेठी- पहली बार लोकसभा चुनाव के रण क्षेत्र में उतरे कांग्रेस प्रत्याशी किशोरी लाल शर्मा ने लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी स्मृति ईरानी को एक लाख 67 हजार 196 मतों से परास्त कर गांधी परिवार की परंपरागत सीट उनकी झोली में डाल दिया है।

वर्ष 2019 के चुनाव में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को हरा कर भाजपा ने कांग्रेस के इस गढ पर कब्जा किया था। शर्मा ने भाजपा प्रत्याशी एवं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को चुनाव हरा कर राहुल गांधी की हार का बदला लिया। सुबह से कांग्रेस प्रत्याशी की बढ़त अंत में जीत में बदल गई। कांग्रेस प्रत्याशी को पांच लाख 39 हजार 228 वोट मिले जबकि भाजपा की स्मृति ईरानी तीन लाख 72 हजार 32 वोट ही पा सकीं।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

कांग्रेस की जीत से स्थानीय कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल दिखाई पड़ा। एक लाख से अधिक की लीड होते ही कांग्रेस कार्यालय में खुशी का माहौल दिखाई पड़ने लगा।

कांग्रेस का गढ़ रही अमेठी में कांग्रेस ने लोक सभा चुनाव में शानदार वापसी की है।इस बार कांग्रेस ने अमेठी से गांधी परिवार के बेहद करीबी के एल शर्मा को चुनावी मैदान में उतारा था। भाजपा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को अमेठी से तीसरी बार चुनावी मैदान में उतारा था। साल 2019 के चुनाव में स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनाव हरा कर उनकी पारंपरिक सीट छीन लिया था।

इस बार कांग्रेस ने नामांकन के अंतिम दिन किशोरी लाल शर्मा को मैदान में उतार कर सबको चौका दिया था।

सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हुई प्रथम चक्र में कांग्रेस बीजेपी से आगे हो गई जैसे-जैसे वोटो की गिनती आगे बढ़ती गई वैसे-वैसे कांग्रेस प्रत्याशी के जीत का अंतर भी बढ़ता गया। आखिरकार कांग्रेस प्रत्याशी किशोरी लाल शर्मा ने भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी को चुनाव हराकर पुनः अमेठी की सीट पर कब्जा कर लिया।

गौरतलब है कि अमेठी लोकसभा चुनाव में 54.34 प्रतिशत हुआ मतदान हुआ था। जिसमे 483188 पुरुष, 492861 महिला, चार थर्ड जेंडर तथा कुल 976053 मतदाताओं ने किया अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

कांग्रेस की पारंपरिक सीट पर भाजपा ने पहली बार 2014 में स्मृति ईरानी को टिकट देकर राहुल गांधी के मुकाबले चुनावी मैदान में उतारा था ।फिलहाल इस बार स्मृति ईरानी चुनाव हार गई थी फिर भी वह अमेठी में डटी रही ।बीजेपी ने साल 2019 में स्मृति ईरानी को बीजेपी से उम्मीदवार बनाया इस बार स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को लगभग 55000 वोटो से पराजित कर दिया। 2024 के चुनाव में गांधी परिवार का कोई भी सदस्य चुनाव नहीं लड़ा कांग्रेस ने किशोरी लाल शर्मा को कांग्रेस से उम्मीदवार बनाया। इस बार स्मृति ईरानी कांग्रेस प्रत्याशी के एल शर्मा से चुनाव हार गई।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय