Thursday, June 6, 2024

छोटे-छोटे राज्यों के निर्माण से ही देश की उन्नति संभव- भगत सिंह वर्मा

देवबंद (सहारनपुर)। भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने आज ग्राम खेड़ा मुगल में एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश ही नहीं दुनिया का सबसे बड़ा राज्य है यहां की जनसंख्या 25 करोड़ है जबकि यूनाइटेड स्टेट अमेरिका की जनसंख्या 34 करोड़ है और वहां 50 राज्य हैं। उत्तर प्रदेश से दुनिया के तीन देश बड़े हैं। उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य होने के कारण यहां कानून व्यवस्था ठीक नहीं है। पूरा प्रदेश गरीबी, महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और अव्यवस्था की चपेट में है।
भगत सिंह वर्मा ने कहा कि छोटे-छोटे राज्यों के निर्माण से ही देश की उन्नति संभव है। छोटा राज्य हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, झारखंड देश को सबसे अधिक आयकर और अन्य टैक्स देने वाले राज्य हैं। उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य होने के कारण यहां प्रति व्यक्ति वार्षिक आय बिहार के बाद देश में सबसे कम है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 26 जिलों को मिलाकर बनने वाला पृथक पश्चिम प्रदेश देश ही नहीं दुनिया का सबसे उन्नतशील और विकसित राज्य होगा। पश्चिम प्रदेश में प्रति व्यक्ति वार्षिक आय कतर देश से भी अधिक होगी और यहां शिक्षा और चिकित्सा अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी और सभी को नि:शुल्क होगी।
भगत सिंह वर्मा ने महामहिम राष्ट्रपति को एक पत्र लिखकर उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांटकर पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण करने की मांग की। बैठक की अध्यक्षता करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र चौधरी ने कहा कि पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण होने पर यहां के बेरोजगार युवाओं को भारी संख्या में सरकारी नौकरी मिलेगी और यहां बड़े-बड़े उद्योग स्थापित होंगे और यहां के किसानों, मजदूर, युवाओं, छोटे व्यापारियों की समस्याएं अपने आप ही हल हो जाएगी।
बैठक का संचालन करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के प्रदेश महामंत्री आसीम मलिक ने कहा कि पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में किसानों, मजदूरों, युवाओं, छात्रों, छोटे दुकानदारों, व्यापारियों, बुद्धिजीवियों, वकीलों सभी को एकजुट होकर संघर्ष के लिए आगे आना चाहिए। जब तक पश्चिम प्रदेश के 8 करोड लोग घर-घर अलग राज्य की बात नहीं करेंगे और यह जन आंदोलन नहीं बनेगा तब तक पश्चिम प्रदेश का निर्माण नहीं होगा। आज पश्चिम प्रदेश निर्माण समय की सबसे बड़ी आवश्यकता है।
बैठक में पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित नीरज कपिल, प्रदेश सचिव मुनेशपाल सिंह बुद्धू, प्रदेश सचिव ऋषिपाल गुर्जर, मंडल उपाध्यक्ष चौधरी कृपाल सिंह, जिला उपाध्यक्ष वसीम जहीरपुर, जिला मंत्री महबूब हसन, जिला संगठन मंत्री सुरेंद्र सिंह एडवोकेट, नरेश कुमार एडवोकेट, शाहनवाज मलिक एडवोकेट, सुमित मान, मुन्नू भट्ठल, मोहम्मद कुर्बान, हाजी बुद्धू हसन, विनय चौधरी, रविपाल, विक्की चौधरी, अमरदीप चौधरी, करसनपाल चौधरी, मोहम्मद समयदिन, जगदीश सैनी, कृष्णपाल सैनी, सनी सैनी, ईसमपाल सैनी, गुरजीत चौधरी, अमित चौधरी, रविंद्र सिंह आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
53,342SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय