Sunday, May 26, 2024

मौसा ने कुनाल का अपहरण कर शव को फेंक दिया था नहर में, मुठभेड़ में तीन बदमाश गिरफ्तार 

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |
नोएडा । गौतमबुद्ध नगर के बीटा -2 थाना क्षेत्र में गांव नटों की मढैय़ा इलाके में स्थित  एक रेस्टोरेंट संचालक  के के शर्मा के 15 वर्षीय बेटे कुनाल शर्मा के अपहरण और हत्या के मामले मे आठ दिन बाद बुधवार देर रात बीटा-दो थाना पुलिस ने घटना में शामिल तीन बदमाशों को बोडाकी गांव के पास से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने से एक बदमाश घायल हो गया। जिसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने अपहरण की घटना में प्रयुक्त कार भी बरामद की है।
पुलिस उपायुक्त जोन तृतीय साद मियां खान ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि ब्याज के पैसो और रेस्टोरेंट को हड़पने के विवाद में कुनाल का अपहरण किया गया था और उसकी हत्या कर शव नहर में फेंक दिया गया था। पकड़े गए बदमाश की पहचान डाढ़ा गांव  निवासी कुनाली भाटी और अगौता बुलंदशहर निवासी हिमांशु चौधरी और मनोज के रूप में हुई है। मनोज  मृतक कुनाल का मौसा  है। बताया जाता है कि मनोज और मृतक कुणाल के पिता के के  शर्मा ने साझेदारी में शिवा होटल खोला था।
मनोज की योजना यह थी कि कुनाल की हत्या के बाद के के शर्मा कमजोर पड़ जाएंगे तथा वह होटल पर कब्जा कर लेगा, तथा हिमांशु आदि की 2 लाख रुपए जो कृष्ण कुमार को देने हैं वह उनके बच जाएंगे।  इसी के तहत तीनों ने मिलकर कुनाल की हत्या की योजना बनाई। बताया जाता है कि कुनाल कम उम्र का होने के बावजूद भी कुशाग्र बुद्धि था, तथा अपने पिता के काम धंधे को संभालता था।
  उन्होंने बताया कि हिमांशु गाडिय़ों के बेचने खरीदने का काम करता है। उसने मृतक के पिता से दो लाख रुपये ब्याज पर लिए थे। ब्याज न देने पर कुनाल ने हिमांशु को तीखी बात कह दी थी। जो हिमांशु को अच्छी नहीं लगी और उसने अपनी महिला मित्र, मृतक के मौसा और अपने साथियों के संग मिलकर कुनाल को सबक सिखाने की साजिश रची और महिला मित्र के माध्यम से उसे रेस्टोरेंट से अगवा कर, उसकी हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया।
मालूम हो कि मूलरूप से रबूपुरा के म्याना गांव निवासी कृष्ण कुमार शर्मा का ऐच्छर के सीएनजी पेट्रोल पंप के पास शिवा होटल एंड रेस्टोरेंट के नाम से होटल है। कृष्ण कुमार शर्मा के बेटे आठवीं क्लास के छात्र कुनाल का एक मई को दिन दहाड़े अपहरण कर हत्या कर दी गई थी। बाद में  पांच मई को उसका शव बुलंदशहर के जुआर खेड़ा गांव के पास गंग नहर से बरामद हुआ था।  वहीं बुधवार दोपहर बाद इस प्रकरण में पुलिस की जांच ब्याज के पैसो के विवाद पर आकर रूक गई थी। कुणाल के पिता ब्याज पर भी लोगों को पैसा दिया करते थे। वसूली के लिए कभी कभी -कभी उनका और बेटे का विवाद भी ब्याज समय पर नही देने वालो से हो जाता था।
सूत्रों के मुताबिक पारिवारिक विवादों के सभी बिन्दुओं पर जांच करने के बाद नतीजा सिफर रहने के बाद अब इस नए तथ्य पर पुलिस को उम्मीद की किरण दिखाई दी।  कुनाल का शव मिलने के बाद पुलिस ने उसके पिता और परिवार के बारे में जानकारियां जुटानी शुरू की तो जांच कभी 23 लाख रुपये के विवाद में कुनाल के मौसा पर जाकर रूकी तो कभी जेल में बंद रिश्तेदार गैंगस्टर के ईदगिर्द गई।  कभी जांच 10 मई को बेटी की होने वाली शादी टूटने के बाद उस परिवार तक पहुंची। इसके अलावा केके शर्मा के खड़ी और तीखी भाषा में बोलचाल और व्यवहार के चलते भी कई विवाद सामने आए। उनकी पत्नी की 15 साल पहले हुई संदिज्ध परिस्थितियों में मौत को लेकर भी आरोपो और संदेश के घेरे में आए लोगों से पूछताछ का दौर कई दिन चला लेकिन अब बुधवार देर रात सटीक सूचना के आधार पर पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,319FollowersFollow
51,314SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय