Wednesday, July 10, 2024

सहारनपुर में सैकड़ों किसानों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर किया प्रदर्शन,भगत सिंह वर्मा बोले- केंद्र सरकार किसानों की समस्या हल करें

सहारनपुर। कलेक्ट्रेट पार्क में भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बैठक के बाद जिलाधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति के नाम 12 सूत्रीय मांग पत्र भेजा गया। मांग पत्र सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा गया। प्रदर्शन से पहले भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य होने के कारण यहां समस्याओं का अंबार है।
प्रदेश की 25 करोड़ जनसंख्या गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार से जूझ रही है इसलिए उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांटकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 26 जिलों को मिलाकर पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण किया जाए। पृथक पश्चिम प्रदेश बनने पर यहां शिक्षा और चिकित्सा अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी और यहां के शिक्षित युवाओं को सरकारी नौकरी मिलेगी। यहां प्रति व्यक्ति वार्षिक आय देश में ही नहीं दुनिया में सबसे अधिक होगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि यहां लगातार बढ़ती हुई समस्याओं का एकमात्र हल पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण ही है। जिसके लिए बड़े संघर्ष की तैयारी शुरू कर दी गई है। वर्मा ने कहा कि बड़ा प्रदेश होने के कारण यहां कानून व्यवस्था चौपट है और किसानों, मजदूरों और गरीबों को उनका हक नहीं मिल पा रहा हैं।
भगत सिंह वर्मा ने कहा कि केंद्र की एनडीए सरकार किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाए, देश के किसानों के सभी कर्ज माफ करें, मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़कर किसानों को मजदूर उपलब्ध कराए, 58 वर्ष से अधिक उम्र के किसानों को ₹10000 प्रति माह वृद्धावस्था पेंशन दिलाई जाए, सभी हाईवे और सड़कों से टोल टैक्स समाप्त किया जाए, डीजल-पैट्रोल और गैस के दाम कम किए जाए, देश के अन्नदाता किसानों की निश्चित आय करने के लिए राष्ट्रीय आय आयोग का गठन किया जाए, किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाने के लिए डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू किया जाए।म, गांव को आत्मनिर्भर बनाने के लिए गांव में छोटे-छोटे कुटीर उद्योग धंधे स्थापित किए जाएं।
बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा के राष्ट्रीय सलाहकार हाफिज मुर्तजा त्यागी व राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ अशोक मलिक ने कहा कि अब देश के अन्नदाता किसान अपनी उपेक्षा किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे और सरकार से अपने हकों के लिए लड़ाई लड़ते रहेंगे। बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित नीरज कपिल व प्रदेश महामंत्री असीम मलिक ने कहा कि पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण समय की सबसे बड़ी आवश्यकता है जिसके लिए युवा शक्ति को आगे जाकर संघर्ष करना होगा।
बैठक को संबोधित करते हुए महानगर अध्यक्ष मोहम्मद जहीर तुर्की ने कहा कि महानगर में संगठन को मजबूत किया जाएगा और किसानों के लिए संघर्ष जारी रहेगा।बैठक में पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष सुशील धारकी, प्रदेश मंत्री ऋषिपाल प्रधान गुर्जर, जिला उपाध्यक्ष मांगेराम यादव, जिला उपाध्यक्ष वसीम जहीरपुर, जिला मंत्री मुकर्रम प्रधान, जिला मंत्री महबूब हसन, महानगर उपाध्यक्ष डॉक्टर कलीमउर्ररहमान, हाजी बुद्धू हसन, जिला संगठन मंत्री सुरेंद्र सिंह एडवोकेट, मंडल उपाध्यक्ष चौधरी कृपाल सिंह, नीरपाल सिंह गुर्जर, कृष्ण पाल गुर्जर, जोगिंदर सिंह, कालू सिंह, कृष्ण कुमार, मोहम्मद अब्दुल सलाम, मनोज कुमार बबलू, सुमित वर्मा जोशी समेत सैकड़ो लोगों ने भाग लिया। बैठक की अध्यक्षता हरेंद्र सिंह प्रधान आमकी ने  की और संचालन राष्ट्रीय सलाहकार हाफिज मुर्तजा त्यागी ने किया।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,351FollowersFollow
64,950SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय