Saturday, May 18, 2024

रामद्रोही ही करते हैं परिवारवाद की राजनीति:योगी

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |

उन्नाव- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को उन्नाव में एक जनसभा में विपक्ष पर जमकर निशाना साधा और किा कि रामद्रोही ही परिवााद की राजनीति करते हैं।

राम भक्तों की राजनीति राष्ट्र के लिए समर्पितभाव रखती है, जबकि रामद्रोही परिवारवाद की राजनीति करते हैं। बच्चों के बच्चे होने पर एक दिन ऐसा भी आएगा, जब प्रदेश के सभी 80 संसदीय सीटों पर उनके परिवार के लोग ही उम्मीदवार होंगे। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के निधन पर संवेदना का एक शब्द न निकाल पाने वालों ने एक माफिया की मौत पर मातमपुर्सी करने में कसर नहीं उठा रखी, जबकि सपा संस्थापक के निधन पर वह स्वयं शोक जताने पहुंचे थे।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

यह बात शनिवार को शहर के रामलीला मैदान साकेत धाम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कही। कहा कि केवल परिवार के विषय में सोचने वाले सत्ता में आकर माफियाओं को मजबूत करते हुए देश को कमजोर करते हैं। माफियाओं के मजबूत होने से गरीबों के लिए बनने वाली जनकल्याणकारी योजनाओं पर डाका पड़ता है और देश की सीमाओं पर अतिक्रमण का दुस्साहस बढ़ता है। अयोध्या व वाराणसी सहित कई अन्य शहरों और सीआरपीएफ शिविर में बम धमका करने वाले आतंकियों को कैद से रिहाई देने की सोच रखने वालों से सावधान रहने की आवश्यता है। वह राम भक्तों पर गोली चलवा सकते हैं। साथ ही भारत में राम मंदिर निर्माण कराने पर सवाल उठा सकते हैं, लेकिन किसी मस्जिद के औचित्य पर सवाल नहीं कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 500 वर्षों के संघर्ष के बाद श्रीराम लला न सिर्फ अपना जन्मदिन मना सके, बल्कि उन्होंने होली भी खेली और अब दीपावली भी मनाएंगे, क्योंकि राम भक्तों की सरकार ने महोत्सव मनाने की शुरुआत कर रखी है। मथुरा का रंगोत्सव, काशी की देव दीपावली और कावंड यात्रा इसी का परिणाम हैं। उन्होंने दावा किया कि अब कांवड़ यात्रा के दौरान कोई गलत नीयत से सेधमारी का प्रयास भी कर सकता है। वर्ष 2017 में केवल सरकार बदलने के साथ प्रदेश में दिखाई देने वाले परिवर्तन के मद्देनजर सरकार गठन के लिए मतदान किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मां चंद्रिकादेवी मंदिर बक्सर को भव्यता देने का काम कराया जा चुका है। इसी तरह राजा रावराम बक्श सिंह, चंद्रिका बक्श सिंह, गुलाब सिंह लोधी, चंद्रशेखर आजाद व सूर्यकांत त्रिपाठी निराला सहित अन्य शहीदों और साहित्यकारों की स्मृति स्थलों को भी उनकी गरिमा के अनुरूप विकसित किया व कराया जा रहा है। मतदान के लिए पौने दिन पहले वह सभी से आश्वासन लेने आए हैं कि वह भाजपा प्रत्याशी निवर्तमान सांसद साक्षी को लोकसभा में मोदीजी को मजबूती देने के लिए निर्वाचित घोषित कराने के लिए परसों होने वाले मतदान में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,319FollowersFollow
50,181SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय