Thursday, July 11, 2024

रामपुर तिराहा कांड में नहीं हो सकी गवाही, अब एक जुलाई को होगी सुनवाई

मुजफ्फरनगर। बहुचर्चित रामपुर तिराहा कांड की सीबीआई बनाम राधामोहन द्विवेदी पत्रावली में गवाही नहीं हो सकी। अपर जिला जज अंजनी कुमार सिंह ने अगली सुनवाई के लिए एक जुलाई तय की है।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

उल्लेखनीय है कि तीस साल पहले एक अक्तूबर, 1994 की रात अलग राज्य की मांग के लिए देहरादून से बसों में सवार होकर आंदोलनकारी दिल्ली के लिए निकले थे। इनमें महिला आंदोलनकारी भी शामिल थीं। पुलिसकर्मियों ने रात करीब एक बजे रामपुर तिराहा पर बस रुकवा ली। आरोप है कि महिला आंदोलनकारियों के साथ छेड़खानी और दुष्कर्म किया गया। उत्तराखंड संघर्ष समिति ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

 

 

25 जनवरी 1995 को सीबीआई ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए थे, जिसकी सुनवाई चल रही है। उत्तराखंड संघर्ष समिति के अधिवक्ता अनुराग वर्मा, बचाव पक्ष के श्रवण कुमार एडवोकेट ने बताया कि मंगलवार को सुनवाई के दौरान आरोपी हाजिर हुए। सीबीआई अदालत में गवाह को पेश नहीं कर सकी।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,351FollowersFollow
64,950SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय