Monday, February 26, 2024

ग्रेटर नोएडा में सिक्योरिटी हटाने को लेकर रेजिडेंट्स और बिल्डर के बीच बवाल,जमकर हुई धक्का मुक्की,पुलिस मौके पर पहुंची

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौर सिटी में आधी रात को सोसाइटी में रहने वाले रेजिडेंट और बिल्डर के लोगों के बीच जमकर धक्का मुक्की और बवाल हुआ। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत करवाया।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

मामला सोसाइटी से सिक्योरिटी को हटाने का था। पूरा मामला ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिसरख थाना क्षेत्र की गौर सिटी 2 की वाइट ऑर्किट सोसाइटी का है, जहां पर गुरुवार रात को जमकर बवाल हुआ।

बताया जा रहा है कि बिल्डर द्वारा सोसाइटी की सिक्योरिटी को हटा दिया गया। इसके बाद सोसाइटी में रहने वाले लोगों ने बिल्डर से कहा कि वह लोग इतना मेंटेनेंस देते हैं, उसके बावजूद भी सिक्योरिटी को क्यों हटाया जा रहा है।

सोसाइटी के लोगों का कहना है कि सोसाइटी में एओए का गठन हो चुका है लेकिन उसके बावजूद भी बिल्डर द्वारा सोसाइटी को एओए के हैंडोवर नहीं दिया जा रहा है। बिल्डर खुद ही पूरा मेंटेनेंस देखता है, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

सोसाइटी की सिक्योरिटी को हटाने और सही तरीके से मेंटेनेंस ना होने पर लोगों ने देर रात बिल्डर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और उन लोगों ने जमकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

इस दौरान सोसाइटी के निवासी और बिल्डर के बाउंसर आमने-सामने आ गए और इन लोगों के बीच जमकर नोकझोंक देखने को मिली।

बताया जा रहा है दोनों पक्षों में जमकर धक्का मुक्की भी हुई। इस धक्का मुक्की के दौरान कई लोगों को हल्की-फुल्की चोटें भी आई हैं। यह हंगामा सुबह करीब 3 बजे तक चलता रहा।

पुलिस के मुताबिक थाना बिसरख क्षेत्र के अंतर्गत व्हाइट ऑर्किड सोसायटी, गौर सिटी-2 में दो पक्षों में आपस में ए.ओ.ए के गठन को लेकर विवाद है। बिल्डर का कहना है कि अभी व्हाइट ऑर्किड सोसायटी में काम कंप्लीट नहीं हुआ है इसलिए बिल्डर हैंडोवर देने में असमर्थ है, जबकि सोसायटी निवासियों में एक पक्ष बिल्डर से हैंडोवर लेना चाहता है। दोनों पक्षों में इसी बात को लेकर असहमति बनी हुई है। हालांकि हंगामे के बाद इस पूरे मामले को शांत कर दिया गया।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय