Thursday, June 13, 2024

पीएम मोदी के ध्यान पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- यह मेडिटेशन नहीं मीडिया अटेंशन है,400 के पार नारे में कोई दम नहीं

पटना। लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में आज 8 राज्यों की 57 सीटों पर मतदान हो रहा है। बॉलीवुड स्टार और टीएमसी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने पटना में कदमकुआं की बूथ संख्या 380 पर अपना वोट डाला।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

सांसद ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योग साधना पर सवाल उठाया। मीडिया से बात करते हुए टीएमसी सांसद ने पीएम की योग साधना पर कहा, ‘’यह आखिरी चरण के लिए चुनाव प्रचार करने का एक तरीका है। लोग कह रहे हैं कि वह मेडिटेशन कर रहे हैं, मगर यह सब वह मीडिया अटेंशन पाने के लिए कर रहे हैं। यह चुनाव प्रचार का एक हिस्सा है।‘’

 

मोदी सरकार के 400 के पार वाले नारे पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, ‘’400 के पार नारे में कोई दम नहीं है। इसमें कोई भी सच्चाई नहीं है। सच्चाई यह कि चाहे एससी, एसटी का परिवार हो, किसान हो, महिलाएं हों, महंगाई की मार हों, आसमान छूती डॉलर की कीमत हो, गिरता रुपया हो क्यों न हो, कुल मिलाकर बात यह है कि इस बार यह चुनाव मुद्दा बनाम मोदी है।” उन्होंने कहा कि इस बार देश में मुद्दे बहुत हावी हैं। सारे मुद्दे इस बार विपक्ष और रूलिंग पार्टी के पास हैं। उन्होंने कहा कि देश का युवा इस बार विपक्ष के मुद्दों के साथ है। बेरोजगारी और महंगाई की मार को लेकर आज जनता विपक्ष का समर्थन कर रही है।

 

पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि पीएम मोदी को मुद्दों से भटकाने की कला आती है। शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी की साधना पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह उनके प्रचार का आखिरी हथकंडा है, जिसका भाजपा इस्तेमाल कर रही है। मैं पीएम मोदी और उनके नेताओं से कहना चाहता हूं कि अब चुनाव नतीजे आने वाले हैं, वह अब जो भी करें, अब काफी देर हो चुकी है। शत्रुघ्न सिन्हा तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर पश्चिम बंगाल के आसनसोल से प्रत्याशी हैं। तीन बार सांसद रह चुके सिन्हा ने 2022 में तृणमूल में शामिल होने के बाद हुए उपचुनाव में तीन लाख से अधिक मतों से जीत हासिल की थी। वह 1996 और 2002 में दो बार राज्यसभा के लिए चुने गए थे। वे अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री और उसके बाद जहाजरानी मंत्री भी रह चुके हैं।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
58,054SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय