Friday, July 19, 2024

आजाद अधिकार सेना ने की नये कानूनों के पुनर्मूल्यांकन की मांग, राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

शामली: एक जुलाई से लागू नये कानूनों के संबंध में संसद से लेकर स्थानीय स्तरों तक भी राजनैतिक दलों के द्वारा विरोध के स्वर उठने लगे हैं। शामली में भी आजाद अधिकार सेना के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अधिकारियों को सौंपते हुए नये कानूनों के लोकतांत्रिक ढ़ंग से पुनर्मूल्यांकन की मांग उठाई।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

बुधवार को आजाद अधिकार सेना के कार्यकर्ता प्रदेश महासचिव विनोद कुमार के नेतृत्व में शामली कलेक्ट्रेट पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने एक जुलाई से सरकार द्वारा लागू नये कानूनों के संबंध में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एडीएम को सौंपा। ज्ञापन में तीनों नये कानूनों के दुरूपयोग की संभावना जताते हुए राष्ट्रपति से इन कानूनों के लोकतांत्रिक ढ़ंग से पुनर्मूल्यांकन कराने की मांग की गई।

 

इस दौरान वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष ओमवीर कश्यप, जिला महामंत्री अंकित कश्यप, जिला प्रभारी अभिषेक कश्यप और जिलाध्यक्ष संदीप कुमार आदि मौजूद रहे। गौरतलब है कि नये कानूनों के लागू होने के बाद संसद में भी राजनेताओं द्वारा इनके परिणामों को लेकर चिंता व्यक्त की गई थी। यह भी बताया गया था कि यें कानून 150 सांसदों के निलंबन के साथ ही पारित हुए थे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय