Wednesday, May 29, 2024

फर्रुखाबाद में भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच है कांटे की टक्कर

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |

फर्रुखाबाद – उत्तर प्रदेश में फर्रुखाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी एवं सांसद मुकेश राजपूत और समाजवादी पार्टी प्रत्याशी डॉ नवल किशोर शाक्य के बीच कांटे की टक्कर होगी।

फर्रुखाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में आगामी 13 में को चौथे चरण के होने वाले चुनाव मैदान में भारतीय जनता पार्टी से प्रत्याशी एवं सांसद मुकेश राजपूत व समाजवादी पार्टी से प्रत्याशी डॉ नवल किशोर शाक्य व बहुजन समाज पार्टी से प्रत्याशी क्रांति पांडे के अलावा भारतीय राष्ट्रीय मोर्चा प्रत्याशी अमर सिंह, भारतीय शक्ति चेतना पार्टी प्रत्याशी दिनेश, भारतीय जवान किसान पार्टी प्रत्याशी विद्याप्रकाश, भारतीय नागरिक पार्टी प्रत्याशी श्यामवीर सिंह तथा निर्दलीय प्रत्याशी हरिनंदन सहित कुल 08 प्रत्याशियों के भाग्य को 17 लाख 13 हजार 583 मतदाता ईवीएम में बंद कर देंगे।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

सूत्रों के अनुसार फर्रुखाबाद लोकसभा से वर्ष 1952 के चुनाव में कांग्रेस के पंडित मूलचंद दुबे 86024 मत पाकर के, सोशलिस्ट पार्टी के तेज नारायण को पराजित किया। 1957 के चुनाव में कांग्रेस से पंडित मूलचंद दुबे 96301 मत पाकर विजय हुए उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के भारत सिंह राठौर को चुनाव हराया था। 1962 के चुनाव में कांग्रेस के पंडित मूलचंद दुबे 79621 मत पाकर पुनः चुनाव जीते और उनकी मृत्यु के बाद 1963 मे हुए उपचुनाव में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से प्रमुख समाजवादी डॉ राम मनोहर लोहिया फर्रुखाबाद से चुनाव जीते गये।

1967 के चुनाव में कांग्रेस के अवधेश चंद्र सिंह ने 99835 वोट पाकर जनसंध के प्रत्याशी दयाराम शाक्य को पराजित किया था। 1971 के चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर अवधेश चंद सिंह 114077 मत पाकर पुनः चुनाव जीत गए,उन्होंने भारतीय क्रांतिदल के राजेंद्र सिंह यादव को हराया था।1977 के चुनाव में वी एल डी प्रत्याशी दयाराम शाक्य ने दो लाख 63 हजार 287 मत पाकर कांग्रेस के अवधेश चंद्र सिंह को पराजित किया था। वर्ष 1980 में भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी दयारामशाक्य ने 77541 मत पाकर विजयी हुए थे ।उन्होंने अपने निकटतम कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिद्वंद्वी डॉ सियाराम गंगवार को पराजित किया था। वर्ष 1984 के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी खुर्शीद आलम खा ने 236892 मत पाकर जीत हासिल कीऔर, उन्होंने भाजपा प्रत्याशी दयाराम शाक्य को हराया था।

वर्ष 1989 के चुनाव मे जनता दल के संतोष भारती चुनाव जीते उन्होंने कांग्रेस के सलमान खुर्शीद को चुनाव हराया था। वर्ष 1991 के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी सलमान खुर्शीद ने 142842 मत पाकर चुनाव जीता और उन्होंने जनता पार्टी के अनवर मोहम्मद खा को हराया था। 1996 के चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी सच्चिदानंद साक्षी ने 229906 मत पाकर सपा प्रत्याशी अनवर मोहम्मद खा को पराजित किया था। 1998 के चुनाव में भाजपा के सच्चिदानंद साक्षी 224636 मत पाकर, सपा के अरविंद प्रताप सिंह को पराजित किया था। 1999 के चुनाव में सपा प्रत्याशी चंद्र भूषण सिंह उर्फ मुन्नू बाबू ने 222984 मत पाकर ,भाजपा के रामबक्श वर्मा को पराजित किया था। 2004 के चुनाव में सपा प्रत्याशी चंद्रभूषण सिंह उर्फ मुन्नूबाबू 176129 मत पाकर चुनाव जीत गए। इस चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती लुइस खुर्शीद को 2745 वोटो से हराया था।

2009 के चुनाव में कांग्रेस के सलमान खुर्शीद ने169351 मत पाकर, बसपा के नरेश अग्रवाल 27199 मतों से हराया था। 2014 के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत ने 406195 मत पाकर, सपा के रामेश्वर सिंह यादव को 150502 मतों से हराया था। 2019 के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत पुनः चुनाव जीत गए उन्होंने 569880 मत पाकर अपने निकटतम सपा बसपा गठबंधन प्रत्याशी मनोज अग्रवाल को 221702 मतों से हराया था।
40-फर्रुखाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में अमृतपुर, फर्रुखाबाद, भोजपुर, कायमगंज ( सुरक्षित) तथा एटा जिले कीअलीगंजसमेतसभीविधानसभाओ से वने पूरे 40 फर्रुखाबाद लोकसभा में क्षेत्र में अनुमानित जातिगत मतदाताओं में, मुस्लिम 2़ 75 लाख ,शाक्य 1़ 54 लाख,यादव 2़ 15 लाख, लोधी 2,75 लाख, ब्राह्मण 1़ 54 लाख, कुर्मी 1 लाख , ठाकुर 1़ 5 4लाख, जाटव 1़ 0 लाख के अलावा अच्छी खासी संख्या में कहार, कश्यप, निषाद, तेली तंमोली कायस्थ गडरिया आदि जातियों के मतदाता भी शामिल है।
वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के भ्रष्टाचार के विरोध में मोदी लहर चली। वर्ष 2019 के चुनाव में पुलवामा अटैक को लेकर राष्ट्रवाद की लहर चली और अब 2024 के चुनाव में फर्रुखाबाद संसदीय क्षेत्र में अभी तक मतदाताओं की खामोशी के चलते कोई लहर नहीं दीखी।
इधर क्षत्रियों की एक जुटता के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पिछले दिनों भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत के पक्ष में ठाकुर बाहुल्य भोजपुर विधानसभा के कस्बा कमालगंज एवं एटा जिले के अलीगंज विधानसभा ठाकुर बाहुल्य क्षेत्रों में जनसभाएं की और आज 11 मई 2024 को फर्रुखाबाद नगर में केंद्रीय रक्षा मंत्री ठाकुर राजनाथ सिंह का रोड शो होने को था ,जो किन्हीं अपरिहार्य कारणों से निरस्त हो गया जिससे भाजपा कार्यकर्ताओं में मायूसी छा गई।
इस लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से वर्ष 2014 और 2019 में दो वार भाजपा से सांसद रहे प्रत्याशी मुकेश राजपूत ,पिछले लोकसभा चुनाव में, अपने प्रतिद्वंदी को, कुछ दिन पहले बसपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व बसपा एमएलसी मनोज अग्रवाल एवं नगर पालिका अध्यक्ष बत्सला अग्रवाल एव उनके और अपने समर्थक के साथ जी जान लगाकर जीतने के लिए चुनाव प्रचार में जूझ रहे हैं। इधर लोकसभा एवं विधानसभा का आज तक कोई भी चुनाव नहीं लड़े डॉक्टर नवल किशोर शाक्य को इंडिया गठबंधन में सपा ने अपना मजबूत प्रत्याशी मानकर चुनाव मैदान में उतारा है, इधर इंडिया गठबंधन से पूर्व केंद्रीय विदेश मंत्री कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद को टिकट न कांग्रेस कार्यकर्ताओं में मायूसी छा गई फिर भी इंडिया गठबंधन के निर्देश पर पिछले दिनों वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद गठबंधन सपा प्रत्याशी डॉक्टर नवल किशोर शाक्य समर्थन में कायमगंज कस्वे में चुनावी जनसभा करके, जोरदार प्रचार करके उन्हें जिताने की अपील कर गए।
इसके साथ ही जन अधिकार पार्टी, महान दल, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस पार्टी एक कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी, सपा कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर डॉ नवल किशोर शाक्य कर का चुनाव प्रचार रात दिन मेहनत करके कर रहे हैं। इस प्रचार के दौरान सपा राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव एवं सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव यहां अपने प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी जनसभाएं करके जिताने की अपीले कर गए।
फर्रुखाबाद क्षेत्र से निकलने वाला गंगा एक्सप्रेस वे पड़ोसी जनपद शाहजहांपुर में चले जाने से फर्रुखाबाद की जनता भाजपा के जनप्रतिनिधियों से बेहद नाराज है जबकि मुख्यमंत्री इस गंगा एक्सप्रेसवे से फर्रुखाबाद को एक लिंक रोड द्वारा जोड़ने की घोषणा कर चुके हैं, ऐसे ही ब्राह्मणों का एक वर्ग भाजपा से नाराज है, इसके अलावा,कई अन्य मुद्दे भी मतदाताओं में गूंज रहे हैं?
इधर राजनीतिज्ञों का मानना है कि फर्रुखाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से बसपा सुप्रीमो मायावती ने फर्रुखाबाद के छात्र नेता क्रांति पांडे को अपना प्रत्याशी बनाया है। क्रांति पांडे के जोरदार चुनाव प्रचार से मिलने वाला वोट, भाजपा प्रत्याशी को नुकसान पहुंचाएगा। इसके अलावा यहां से लड़ने वाले अन्य प्रत्याशी भी अपने-अपने चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं।
राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि फर्रुखाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत और सपा प्रत्याशी डॉक्टर नवल किशोर शाक्य में कांटे की टक्कर है। जनता किसके साथ जायेगी यह तो 4 जून 2024 को मतगणना के बाद भी साफ हो पायेगा।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,319FollowersFollow
51,314SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय