Monday, February 26, 2024

अमरोहा में पिता-पुत्री की हत्या, कमरे के फर्श पर मिले शव,पुलिस जांच में जुटी

अमरोह। उत्तर प्रदेश के जनपद अमरोहा में शनिवार को सर्राफा और उनकी पुत्री की गला रेतकर हत्या कर दी गई। दोनों के शव फर्श पर पड़े मिले हैं। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस के अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयाना किया। फारेंसिक टीम ने जांच कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना के खुलासे के लिए पुलिस की टीमें लगी हुई हैं।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कटरा गुलाम अली में रहने वाले सर्राफ योगेश चंद अग्रवाल (67) और उनकी बेटी सृष्टि (27) के शव घर के कमरे में फर्श पर मिले हैं। पिता-पुत्री की हत्या हो गई और दूसरे कमरे में सो रहे बेटे व बहू को खबर तक नहीं लग सकी। घर का सामान बिखरा हुआ था। पूरा घर सीसीटीवी कैमरे से लैश हैं, लेकिन वारदात के दौरान कैमरे बंद पाये गये।

घटना की जानकारी पर सुबह डीआईजी मुनिराज, एसपी कुंवर सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल की जांच पड़ताल की। पूछताछ में पता चला कि सर्राफ योगेश चंद अग्रवाल उद्योग व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष और सेवा भारती संस्था के नगर अध्यक्ष थे। कोरोना काल उनकी पत्नी का निधन हो चुका है। परिवार में बेटा इशांक अग्रवाल, बहु मानसी और बेटी सृष्टि हैं।

बेटा पत्नी के साथ दिल्ली में कारोबार करता हैं और सप्ताह में एक ही बार घर आता था। यहां पर योगेश अपनी बेटी के साथ अकेले ही रहते थे। दो दिन पहले इशांक पत्नी के साथ घर आया हुआ था। शुक्रवार की रात को खाना-पीना खाने के बाद कमरे में सो गया, जबकि योगेश बेटी के साथ अलग कमरे में सो रहे थे। इसी दौरान पिता-पुत्री की हत्या कर दी गयी।

शव घर के कमरे में फर्श पर पड़े मिले। हत्या के बाद पिता-पुत्री के चेहरे पर कपड़ा ढक हुआ था। अपराधी इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे गए और बेटे-बहू को भनक तक नहीं लगी। घर के सीसीटीवी कैमरे भी बंद पाये गए। हत्या क्यों और किस लिए की गई ये अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। फिलहाल एसपी ने बताया कि घटनास्थल की बारीकी से जांच कर साक्ष्य एकत्र किया गया है। खुलासे के लिए पुलिस की पांच टीमें लगी हुई हैं।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय